सी.एम. राइज योजना के बारे मे

प्रदेश में 1 लाख शासकीय विद्यालयों में लगभग 1 करोड़ विद्यार्थी दर्ज है। इस प्रकार प्रति विद्यालय औसतन 100 विद्यार्थी दर्ज हैं जिससे प्रति विद्यार्थी व्यय अधिक होने के बावजूद भी गुणवत्ता अपेक्षित स्तर की नहीं है। इसी अनुक्रम में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदाय हेतु नवीन शिक्षा नीति के दृष्टिगत सर्व संसाधन सम्प न्न विद्यालयों की स्थापना के लिये विभाग द्वारा कार्ययोजना बनाई गई है। इन विद्यालयों को एकीकृत रूप से ( के.जी. से कक्षा 10वीं अथवा 12वीं तक ) स्थापित कर अध्ययन एवं अध्यापन तथा अधोसंरचना सुधार का कार्य किया जाएगा जिससे शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार आएगा एवं अंतरण दर (Transition Rate ) में वृद्धि होगी। इन विद्यालयों में अत्याधुनिक अधोसंरचना एवं उच्च दक्षता वाले शिक्षकों की व्यवस्था की जायेगी।

उद्देश्य :

लगभग प्रत्येक बसाहट के 15 कि.मी. के दायरे में एक उच्च गुणवत्ता का विद्यालय प्रदेश के विद्यार्थियों के लिये उपलब्ध हो ताकि शैक्षणिक वातावरण में सुधार कर विद्यार्थियों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा प्रदान की जा सके। प्रदेश में कुल 9200 विद्यालयों को सर्व संसाधन सम्पन्न विद्यालय के रूप में विकसित करने का लक्ष्य है।

इन विद्यालयों की मुख्य विशेषताऐं:-

  • सर्व सुविधायुक्त अधोसंरचना
  • पर्याप्त एवं दक्ष शिक्षक
  • बेहतर विद्यालय नेतृत्व
  • अभिभावकों की सहभागिता
  • सभी विद्यार्थी 21वीं सदी के कौशल अर्जित कर सकें इस हेतु गुणवत्ता युक्त स्मार्ट कक्षाऐं, सभी प्रकार की प्रयोगशालाएं इत्यादि की व्यवस्था
  • विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास हेतु कला, संगीत, खेलकूद आदि की सुविधा
  • परिवहन सुविधा
  • पूर्व प्राथमिक शिक्षा
  • व्य्वसायिक शिक्षा

Serial SOP Name Document title for QR code Link
#1 शिक्षक के प्रदर्शन का समग्र मूल्यांकन शिक्षक प्रदर्शन मानक Link1
#2 समावेशी (inclusive) स्कूल बनाने के लिए नीति और प्रणालियाँ आधारभूत संरचना Link2a
पहचान, आकलन और समीक्षा Link2b
बच्चों का आकलन Link2c
सुझाव, रणनीतियाँ और संशोधन Link2d
#3 स्कूल में प्रिन्ट-समृद्ध वातावरण बनाना प्रिन्ट-समृद्ध वातावरण बनाने के लिए संसाधन Link3
#4 शिक्षक डायरी की समीक्षा शिक्षक डायरी सैम्पल Link4


User Profile