Main Menu
Madhya Pradesh
Education Portal
10/17/2017 13:21:05
e-Service Book

शासकीय प्राथमिक शालाओं की सतना, जबलपुर, उमरिया, रीवा, सीधी, आगरमालवा, देवास,इंदौर जिला एवं 89 आदिवासी विकासखण्डो को छोडकर जारी की गई हें अतिशेष की अंतिम सूची दिनाँक 04/08/2017

www.educationportal.mp.gov.in

(as per Govt. Order No./F-1-42/2014/20-1 Dt.11.04.2017) 

शालाओं में स्वीकृत शैक्षणिक पदों के अनुरूप पदस्थापना सुनिश्चित करना-युक्तियुक्तकरण।

1.     1. स्कूल शिक्षा विभाग के परिपत्र दिनांक 11-04-2017 की कंडिका 4.1 के अनुसार 60 बच्चों तक 2 शिक्षक 61 से 90 बच्चों तक 3 शिक्षक, 91से 120 बच्चों तक 4 शिक्षक , 121 से 200 बच्चों तक 5 शिक्षक, 150 से अधिक बच्चे होने पर

1 प्रधान अध्यापक का प्रावधान है | 200 से अधिक बच्चे होने पर 1 अनुपात 40 के अनुसार प्रधानाध्यापक को छोड़कर शिक्षक शाला मे पदस्थ रहेंगे (अर्थात 150 से अधिक बच्चे होने पर प्रधानाध्यापक यथावत रहेगा )

2. आश्रम शाला, उर्दू शाला,संस्कृतपाठशाला, एवं अग्रेजी माध्यम के स्कूलों को अतिशेष से पृथक रखा गया है, फिर भी यदि इन शालाओं के किसी शिक्षक का नाम अतिशेष की सूची में दर्शित हो रहा है तो उसे अतिशेष      मानकर कार्यवाही नहीं की जाएगी , जिला शिक्षा अधिकारी इस सम्बन्ध में कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए आयुक्त लोक शिक्षण को सूचित करेंगे |

3. प्राथमिक शाला में पदस्थ संविदा शाला शिक्षक श्रेणी -3 एवं शिक्षा कर्मी वर्ग- 3 यथावत पदस्थ रहेंगे |इनको युक्तियुक्तिकरण के तहत नहीं लिया गया है यदि इस श्रेणी का कोई व्यक्ति अतिशेष सूची मे सम्मिलित है      तो जिला शिक्षा अधिकारी उन्हे सूची से पृथक करने हेतु कार्यवाही करेंगे |

4. स्कूल शिक्षा विभाग के आदेश दिनांक 28.04.2017 की कंडिका-2 के अनुसार ‘‘ऐसे शिक्षक/अध्यापक जो दिनांक 30.04.2018 के पूर्व सेवा निवृत्त हो रहे है। उन्हें आदेश दिनांक 11.04.2017 के द्वारा जारी     युक्तियुक्तकरण की प्रक्रिया से पृथक रखा गया है अंतिम सूची जारी करने में विलम्ब हुवा है इस स्थिति में दिनांक 30.0.2018 तक के पूर्व सेवा निवृत्त हो रहे है उन्हें अतिशेष घोषित कर अन्यत्र पदस्थ नही किया     जायेगा। वे अपनी पदांकित संस्था में यथावत सेवा निवृत्ति तक पदस्थ रहेगें,यह कार्यवाही जिला शिक्षा अधिकारी सुनिश्चित करेगे ।’’

5. प्राथमिक शालाओं मे केवल प्रधानाध्यापक (PS), सहायक शिक्षक, संविदा शाला शिक्षक श्रेणी-3 के पद है | अतिशेष की सूची मे दर्शित अन्य पद वाले शिक्षकों को प्रशासकीय प्रक्रिया से अन्यत्र पदस्थ किया जायेगा | 6. शहरी क्षेत्रों मे पदस्थ अध्यापक संवर्ग के पद अतिशेष होने पर तथा शहरी क्षेत्रों मे अध्यापक संवर्ग के पद रिक्त नहीं होने की स्थिति मे शिक्षक संवर्ग को स्थानांतरण प्रक्रिया के तहत अन्यत्र पदस्थ किया जाएगा | 7. अतिशेष सूची मे दर्शित शिक्षको/अध्यापको को स्कूल शिक्षा विभाग के परिपत्र दिनांक 11-04-2017 की कंडिका 8 अनुसार अपील प्रस्तुत करने का अधिकार प्राप्त है |गंभीर बीमारी से पीड़ित ,निशक्त,विधवा एवं     परित्यक्ता अतिशेष शिक्षक इस प्रावधान के तहत अपील कर सकते है,अपील में निराकरण नहीं होने पर आवश्कतानुसार जिला शिक्षा अधिकारी इस प्रवर्ग के प्रस्ताव विभाग को निराकरण हेतु प्रेषित कर सकते है | 

  • शासकीय माध्यमिक शालाओं की सतना, जबलपुर, उमरिया, रीवा, सीधी, आगरमालवा, देवास,इंदौर जिला एवं 89 आदिवासी विकासखण्डो को छोडकर जारी की गई हें अतिशेष की अंतिम सूची दिनाँक 04/08/2017 को जारी की गई थी !

  • जबलपुर, उमरिया, रीवा, सीधी, आगरमालवा, देवास, इंदौर जिले की अतिशेष की सूची आज जारी की जा रही हें (04/10/2017)