केन्द्रीय पुस्तकालय  Back

केन्द्रीय पुस्तकालय / ग्रंथालय के बारे मे ..

विभाग के प्रदेश में पाँच केन्द्रीय पुस्तकालय है। शासकीय मौलाना आजाद केन्द्रीय पुस्तकालय भोपाल, शासकीय अहिल्या केन्द्रीय पुस्तकालय इन्दौर, शासकीय केन्द्रीय पुस्तकालय ग्वालियर, शासकीय केन्द्रीय पुस्तकालय रीवा, शासकीय केन्द्रीय पुस्तकालय जबलपुर एवं
छत्तीस - जिलों में जिला पुस्तकालय संचालित है- भोपाल सीहोर रायसेन राजगढ विदिशा जबलपुर नरसिंहपुर छिन्दवाडा सिवनी मंडला बालाघाट धार झाबुआ खरगौन खण्डवा सीधी सतना सतना(नागौद) ग्वालियर भिण्ड मुरैना गुना दतिया शिवपुरी उज्जैन शाजापुर रतनलाम देवास सागर दमोह पन्ना छतरपुर टीकमगढ बैतूल होशंगाबाद शहडोल

इसके अतिरिक्त विभाग द्वारा अधिग्रहित स्वामी विवेकानन्द लाइब्रेरी(पूर्व में ब्रिटिश लाइब्रेरी) भोपाल को भी संचालित किया जाता है मौलाना आजाद केन्द्रीय पुस्तकालय भोपाल- मौलाना आजाद केन्द्रीय पुस्तकालय भोपाल शहर में एक शिक्षा केन्द्र के रुप में तेजी से विकसित होती लाइब्रेरी है। इस वर्ष मुख्य गतिविधियों में इण्डिया क्विज 2018, पृथ्वी सम्मेलन, ग्रेजूएट ग्रूमिंग, आत्मविश्लेषण प्रतियोगिता, नई कलम रचना पाठ, ओपन मोटिवेशनल सेमिनार, खेल दिवस प्रतियोगिताएॅ, हिन्दी दिवस प्रतियोगिताएॅ आदि। विगत एक वर्ष पुस्तकालय के लिए विविध उपलब्धियों भरा रहा। वाॅटर प्रूफिंग एवं संेट्रल कूलिंग सिस्टम, सोलर पैनल भी लगवाए गए।

शासकीय श्री अहिल्या केन्द्रीय पुस्तकालय इन्दौर- केन्द्रीय पुस्तकालय इन्दौर को राष्ट्रीय पुस्तकालय मिशन प्रोजेक्ट अंतर्गत चयन होने से मॉडल लाईब्रेरी में विकसित किये जाने हेतु स्वीकृत राशि बजट राशि रुपये-87.00 लाख में से 50.00 लाख रुपये भवन के सुदृढीकरण, भवन के रंगरोगन एवं 37.00 लाख रुपये पुस्तकालय के विकास हेतु तकनीकी सामग्री, दृष्टिबाधित जन हेतु तकनीकी आवश्यक सामग्री, प्रिन्ट बुक्स, ई-जनरलस्, ई-बुक्स् आदि क्रय किया जाना प्रस्तावित है। वर्तमान में भवन के सुदृढीकरण हेतु राष्ट्रीय पुस्तकालय मिशन प्रोजेक्ट के अंतर्गत स्वीकृत राशि मे से प्रथम किस्त संबधित ऐजंेसी को प्राप्त होकर कार्य प्रारंभ हो चुका है। पुस्तकालय में वर्ष भर में विशेष आयोजकों/संस्थाओं जैसे- विचार मंच, रंजन कलश, जनवादी लेखक संघ, प्रगतिशील लेखक संघ, पाठक संसद, हिन्दी परिवार, सृजन संवाद, इन्दौर लेखिका संघ, राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना, क्षितिज आदि द्वारा काव्य पाठ, रचना पाठ, साहित्यिक गोष्ठी लाइब्रेरियनस् डे, पुस्तकालय दिवस का आयोजन किया जाता है। जहाॅ विद्यार्थी प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी करते है एवं उन्हें निःशुल्क अध्ययन सामग्री उपलब्ध कराई जाती है।

केन्द्रीय पुस्तकालय ग्वालियर- पुस्तकालय में प्रतिमाह इवेन्टस् का आयोजन किया जाता है। पाठकों में रीडिंग हैबिटस् का विकास हुआ है। इस वर्ष पुस्तकालय मंे मुख्य रुप से आयोजित होने वाले इवेन्टस में माॅक टेस्ट, कैरियर गाइडेन्स्, निबंध प्रतियोगितायें, ग्रुप डिस्कशन, पेटिंग प्रतियोगिताऐं, कवि सम्मेलन, वाद-विवाद प्रतियोगिता एवं क्विज प्रतियोगिताएं रही। शासकीय केन्द्रीय पुस्तकालय में स्मार्ट सिटी योजना अंतर्गत डिजिटल लाइब्रेरी का निर्माण किया जा रहा है केन्द्रीय पुस्तकालय जबलपुर- केन्द्रीय पुस्तकालय जबलपुर में फस्र्ट सेन्ट्रल इण्डिया पैरेन्टल फैस्ट-प्रगल्भ प्रतियोगिता के अंतर्गत नाट्य, गायन, कहानी लिखों, चित्रकला का आयोजन किया गया है। पुस्तकालय में पुस्तक प्रदर्शनी, विशेष दिवसों पर गोष्ठी/सेमिनार का आयोजन, प्रतियोगिताओं का आयोजन, प्रतियोगी परीक्षाओं के अंतर्गत माॅक टेस्ट तथा विषय विशेषज्ञों द्वारा सेमिनार का आयोजन भी किया जाता है। केन्द्रीय पुस्तकालय रीवा- केन्द्रीय पुस्तकालय रीवा में महापुरुषों की जीवनियों पर विभिन्न प्रकार की गोष्ठियाॅ, साहित्यकारों की आंमत्रित कर आयोजित की गई। शिक्षक दिवस, गाॅधी जयन्ती, स्वं लाल बहादुर शास्त्री की जयंती, श्री भगत सिंह जयंती, श्री विश्वकर्मा जयंती के साथ ही राम जन्म, श्री कृष्ण जन्म, पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किये जाते है।

जिला पुस्तकालय भोपाल एवं जिला पुस्तकालय सीहोर में राजा राम मोहन राय पुस्तकालय प्रतिष्ठान द्वारा प्रदत्त कहानियाॅ, कविता, योग, उपन्यास, विज्ञान, नाटक, महिला सशक्तिकरण आदि पर कुल 18450 पुस्तकें उपलब्ध है। जिसमें हिन्दी की 12,250 एवं अंग्रेजी की 6200 पुस्तकें उपलब्ध है। जिला पुस्तकालय राजगढ में प्रतिवर्ष पंचमी, गांधी जयंती, दशहरा एवं दिपावली के अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते है। जिसमें पुस्तकालय के नियमित सदस्यों के साथ-साथ स्कूली छात्र-छात्राएँ भी सम्मिलित होते है। जिला पुस्तकलय नरसिंहपुर में आने वाले विभिन्न वर्ग के पाठकों को पत्र-पत्रिकाओं एवं सभी प्रकार के दैनिक समाचार पत्र उपलब्ध कराये जाते है। पुस्तकालय में शहरी एवं ग्रामिण अंचलों से परीक्षाओं की तैयारी होती है। जिला पुस्तकालय छिन्दवाडा में सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना की गई है एवं एक हाॅल का निर्माण कार्य किया गया है। जिला पुस्तकालय सिवनी में सभी विषयों की पुस्तकंे उपलब्ध है एवं सदस्यों की संख्या 213 है। जिला पुस्तकालय मण्डला के निःशुल्क कोचिंग क्लासेस प्रारंभ की गई है। जिसमें छात्र-छात्राओं, शिक्षकों एवं अतिथि विद्ववानों द्वारा मार्गदर्शन। प्रतियोगिता परीक्षाओं से संबंधित अन्य सामाजिक पत्रिकाॅएं क्रय की जाती है। पुस्तकालय में महापुरुषों की जंयती, राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय दिवसोें पर समारोह आयोजित किये जाते है ।

नागौद (सतना) जिला पुस्तकालय मेें कैरियर काॅउसलिंग,जागरुकता शिविर, हैपेटाइटिस जागरुकता एवं अन्य जागरुकता शिविरों का आयोजन किया गया है। जिला पुस्तकालय गुना में उपलब्ध लगभग 25000 पुस्तकों का आॅटोमेंशन कार्य किया जा रहा है। पुस्तकालय में कुल सदस्यों की संख्या 1000 है। कलेक्टर एवं अध्यक्ष जिला पुस्तकालय ज्ञान लाइब्रेरी के आदेश के अनुरुप पुस्तकालय संचालन का समय 12 घन्टे किया गया है, अर्थात अब प्रातः 08.00 बजे से रात्री 08.00 बजे तक संचालित हो रहा है। पाठकों की माॅग के अनुरुप म.प्र. लोक सेवा आयोग एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिये नवीन साहित्य उपलब्ध कराया जाता है। जिला पुस्तकालय शाजापुर पूर्व में किराये के भवन में संचालित होता था। परन्तु अब एकिकृत शासकीय मा.वि. महालक्ष्मी शाजापुर द्वारा उपलब्ध कराये गये कक्षों किला परिसर शाजापुर में वर्ष 2019 से संचालित किया जा रहा है। जिला पुस्तकालय रतलाम में विशेष सदस्यता अभियान विभिन्न स्कूलों एवं महाविद्यालयों में चलाया जाकर पाठकों की संख्या में वृद्धि के प्रयास किये जा रहें है, ताकि शासन की योजना का लाभ अधिक से अधिक जनता तक पहुँचाया जा सकें। वर्तमान में पंजीकृत पाठकों की संख्या 2800 है।

जिला पुस्तकालय देवास में समय समय पर साहित्यकारों द्वारा काव्य गोष्टी का आयोजन किया जाता है, पुस्तकालय में शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों के छात्र/छात्राओं को भ्रमण कराकर ज्ञान वर्धक पुस्तकें एवं अन्य जानकारियाॅ उपलब्ध कराई जाती है। शासकीय हाई/उ.मा.वि./प्रा.वि./मा.वि. के छात्र/छात्राओं को पुस्तकालय में आने के लिए संस्था प्रधान को पत्र जारी किये गये, ताकि सभी विद्यार्थी पुस्तकालय का लाभ ले सकें। जिला पुस्तकालय पन्ना में विगत एक वर्ष से स्टडी सेंटर का सफल संचालन किया जा रहा है, जिसमें छात्र-छात्राएॅ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर लाभन्वित हो रहे है।

जिला पुस्तकालय बैतूल में पाठकों की सुविधा को ध्यान में विगत वर्षो से स्वच्छ पेयजल की समुचित व्यवस्था है। पुस्तकालय में आने वाले पाठको की संख्या वढाने हेेतु सभी आवश्यक मूलभूत सुविधायंे उपलब्ध कराई जा रही है। जिला पुस्तकालय शहडोल में पुस्तकों की सुरक्षा व्यवस्था हेतु वाचनालय के हाल में काॅच पार्टीशन का कार्य एवं पेयजल हेतु आरो एवं वाटर कूलर की व्यवस्था की गई है। पुस्तकालय के लिये पेयजल की व्यवस्था हेतु नलकूप खनन कर पानी की व्यवस्था की गई है। स्वामी विवेकानन्द लाइब्रेरी- वर्ष 2019 से स्वामी विवेकानन्द लाइबेरी वेबासाईट का कार्य शुरु किया गया है। मैप आई टी द्वारा निर्मित किये जा रहे वेबसाईट का पहला फेज लाईव हो चूका है। इसमें लाइब्रेरी में उपलब्ध कलेक्शन, सदस्यता शुल्क, नई किताबों की लाॅजिंग एवं आगामी इवेन्टस् की जानकारी इत्यादि शामिल है। इसका डोमेन ेअसइचसण्उचण्हवअण्पद है। इस वर्ष के अंत में इसका दूसरा फेज भी पूरा हो जायेगा। जिससे आॅनलाई्रन पेमेंट गेटवे और सदस्यों के लिए बुक डिस्कशन फोरम भी शामिल रहेगा। वर्ष 2019 में स्वामी विवेकानन्द लाइब्रेरी के कैटलाॅग को भी आॅनलाइन किया गया है। लाइब्रेरी के कलेक्शन में लगभग 3000 नई किताबें शामिल की चुकी है। नोबेल पुरुस्कार से सम्मानित भारतीय मूल के आॅथर अभिजीत बैनर्जी की नई किताब गुड इकोनाॅमिक्स फाॅर हार्ड टाइम्स भी शामिल है। प्रति माह इवेंट्स का आयोजन किया गया, गाॅधी जयंती पर हुई युवा चर्चा की गई।

Designed & developed by National Informatics Centre  

User Profile